Love of Film Actress


                                फ़िल्मी हिरोइन और मोहब्बत :

फिल्मो में हम देखते है की हिरोइन एक गरीब की मोहब्बत में सब कुछ कुर्बान करती नजर आती है ,और अक्सर फिल्मो की स्टोरीज में यही दिखाया जाता है कि हिरोइन किसी गरीब से प्यार करके सारी दुनिया से बगावत करके उससे शादी कर लेती है ,अपनी तमाम अमीर आदतें निकलकर एक गरीब के साथ बिलकुल एक आम सी ओरत बनकर जिन्दगी गुजरने के लिए तैयार हो जाती है ,या फिर एक राजकुमार हीरो किसी गरीब कनीज़ कि मोहब्बत में अपना सब कुछ कुर्बान करके उसे पा लेता है ,ग्रेट है हमारी फिल्मे जिनमे गरीबो को इतनी तरजीह दी जाती है .उनसे मोहब्बत कि तालीम दी जाती है ,उंच नीच कि दीवारों को मिटने का पैगाम दिया जाता है .अमीरी गरीबी से ज्यादा प्यार को महान बताया जाता है ,कभी गरीब हीरो अमीर बनने के लिए किसी अमीर हिरोइन से प्यार कर लेता है ,और हिरोइन भी आसानी से उसकी मोहब्बत को दिलो जान से कबूल कर लेती है ,
जबकि इन सितारों कि जिन्दगी कि हकीकत फिल्मो से बिलकुल उलट है ,गरीब के बजाय सबसे अमीर देख कर मोहब्बत कि पींगे बढाई जाती है ,कभी सुना नही कि किसी हिरोइन ने किसी गरीब आदमी से असल जिन्दगी में मोहब्बत क़ी हो ,और उसके लिए अपने करियर को भी ठुकरा दिया हो ,या किसी रियल हीरो ने अपनी रियल जिन्दगी में किसी गरीब लड़की को अपनी पत्नी बनाया हो .इसे में ये समझा जा सकता है क़ी असल जिन्दगी में ये फिल्मो में नजर आने वाले हीरो हिरोइन खुद को खलनायक साबित कर देते है ,दुनिया क़ी परवाह किये बगैर पैसों के पीछे पागलों क़ी तरह दोड़ते नजर आते है .हिरोइन जो क़ी फिल्मो में ये कहती नजर आती है क़ी प्यार जिन्दगी में एक ही बार होता है ,उसका ब्रेक अप हर माह होता नजर आता है .फिल्मो में प्यार क़ी खातिर सब कुछ कुर्बान करने वाले ये सितारे हकीकत में पेसे के लिए प्यार को भी कुर्बान करते नजर आते है .फिल्मो में शादी को इतनी अहमियत देने वाले ये सितारे हकीकत में बगैर शादी के लिव इन रिलेशन शिप के नाम पर साथ रहते नजर आते है .फिल्मो में माँ बाप के फर्माबरदार ये फ़िल्मी हकीकत में अपने माँ बाप से बगावत करते नजर आते है .फिल्मो में समाज को अच्छा  पैगाम देने वाले ये लोग हकीकत में समाज में अश्लीलता फैलाते नजर आते है .फिल्मो में एक प्यार के सहारे जिन्दगी गुज़ार देने वाले ये लोग हकीकत में हर रोज एक नये अफेयर के साथ जीते नजर आते है , और भी बहुत सारा फर्क है फिल्मो में और इनकी असल जिन्दगी में ,ये तो मैंने एक छोटा सा नक्शा खिंचा है इन लोगों क़ी मोहब्बत फिल्मो और हकीकत क़ी जिन्दगी का .आगे आप खुद समझदार हैं ,सिर्फ यही कहना चाहूँगा क़ी ये पब्लिक है ये सब जानती है पब्लिक है ............................................
आमिर दुबई

SHARE THIS

Author:

Previous Post
Next Post
31 January 2013 at 13:20

ये
पब्लिक है ये सब जानती है पब्लिक
है ............................................

Reply
avatar
31 January 2013 at 13:23

सही कहा आपने रंगमंच का नजारा और रंगमंच के पिछे का नजारा अलग अलग होता हैँ

Reply
avatar